February 27, 2021

Haridwar Maha Kumbh Mela 2021: मार्च के पहले सप्ताह में मिलेंगे डाक्टर और स्वास्थ्यकर्मी


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हरिद्वार
Updated Mon, 11 Jan 2021 02:30 AM IST

डॉक्टर(प्रतीकात्मक तस्वीर)
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

हरिद्वार महाकुंभ मेले की अधिसूचना जारी होने से पहले 31 डॉक्टर ही स्वास्थ्य व्यवस्था की बागडोर संभालेंगे। इनकी तैनाती से जोनल प्रभारी, सेक्टर प्रभारी और प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर की गई है। मार्च के पहले सप्ताह  में 319 चिकित्सकों और 3825 स्वास्थ्य कर्मियों को ड्यूटी पर लगाया जाएगा। फिलहाल जोनल और सेक्टर प्रभारी की ड्यूटी मक्खी और मच्छर नियंत्रण अभियान में लगाई जाएगी।

कुंभ मेले के दौरान स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के लिए शासन को 350 चिकित्सकों की डिमांड भेजी गई थी। वहीं 352 फार्मोसिस्ट,, 450 नर्स और 23 सुपरवाइजर और तीन हजार वार्ड ब्वाय, वार्ड आया और सफाई कर्मी की मांग की गई थी। लेकिन कुंभ की अधिसूचना जारी न होने के चलते अब तक स्वास्थ्य विभाग को पर्याप्त संख्या में स्वास्थकर्मी उपलब्ध नहीं हो पाएं हैं।

यह भी पढ़ें: Haridwar Maha Kumbh Mela 2021: 25 जनवरी को नगर में प्रवेश करेंगी तीन अखाड़ों की धर्मध्वजा

कुंभ मेलाधिकारी स्वास्थ्य डॉ. अर्जुन सिंह सेंगर ने बताया कि कुंभ की अधिसूचना जारी होने के बाद मार्च में पर्याप्त संख्या में चिकित्सकों और स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती की जाएगी। उन्होंने कहा कि जोन और सेक्टर प्रभारी पद तैनाती के लिए 31 चिकित्सकों की डिमांड भेजी थी। सभी चिकित्सकों को ड्यूटी ज्वाइन करने के आदेश जारी कर दिए गए थे। इसमें 16 चिकित्सक ड्यूटी ज्वाइन कर चुके हैं। जबकि 15 चिकित्सक अगले दो-तीन दिनों में ड्यूटी ज्वाइन करेंगे।

डॉ. अर्जुन सिंह सेंगर ने बताया कि 115 चिकित्सकों की नियुक्ति आउटसोर्स पर की जाएगी। इन चिकित्सकों संविदा कर्मी को मिलने वाले निर्धारित वेतन का भुगतान किया जाएगा। डॉ. सेंगर ने बताया कि यदि शासन से 350 चिकित्सकों की मांग के सापेक्ष चिकित्सक उपलब्ध नहीं होते तो आउटसोर्स चिकित्सकों की संख्या को बढ़ाया जाएगा। चिकित्सकों की भर्ती के लिए मेला प्रशासन टेंडर निकालने की तैयारी कर रहा है।

मक्खी मच्छर मुक्त होगा मेला क्षेत्र
अधिसूचना जारी होने से पूर्व पूरे मेला क्षेत्र को मक्खी और मच्छर से मुक्त किया जाएगा। इसके लिए युद्धस्तर पर मक्खी और मच्छर नाशक दवाओं को छिड़काव किया जाएगा। प्रत्येक सेक्टर में दवाओं के सफाई और दवा के छिड़काव की जिम्मेदारी सेक्टर प्रभारी की होगी। 

सार

  • महाकुंभ अधिसूचना जारी होने तक 31 चिकित्सक संभालेंगे कमान
  • 350 चिकित्सक, 352 फार्मासिस्ट और 450 नर्स की भेजी गई थी डिमांड 

विस्तार

हरिद्वार महाकुंभ मेले की अधिसूचना जारी होने से पहले 31 डॉक्टर ही स्वास्थ्य व्यवस्था की बागडोर संभालेंगे। इनकी तैनाती से जोनल प्रभारी, सेक्टर प्रभारी और प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर की गई है। मार्च के पहले सप्ताह  में 319 चिकित्सकों और 3825 स्वास्थ्य कर्मियों को ड्यूटी पर लगाया जाएगा। फिलहाल जोनल और सेक्टर प्रभारी की ड्यूटी मक्खी और मच्छर नियंत्रण अभियान में लगाई जाएगी।

कुंभ मेले के दौरान स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के लिए शासन को 350 चिकित्सकों की डिमांड भेजी गई थी। वहीं 352 फार्मोसिस्ट,, 450 नर्स और 23 सुपरवाइजर और तीन हजार वार्ड ब्वाय, वार्ड आया और सफाई कर्मी की मांग की गई थी। लेकिन कुंभ की अधिसूचना जारी न होने के चलते अब तक स्वास्थ्य विभाग को पर्याप्त संख्या में स्वास्थकर्मी उपलब्ध नहीं हो पाएं हैं।

यह भी पढ़ें: Haridwar Maha Kumbh Mela 2021: 25 जनवरी को नगर में प्रवेश करेंगी तीन अखाड़ों की धर्मध्वजा

कुंभ मेलाधिकारी स्वास्थ्य डॉ. अर्जुन सिंह सेंगर ने बताया कि कुंभ की अधिसूचना जारी होने के बाद मार्च में पर्याप्त संख्या में चिकित्सकों और स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती की जाएगी। उन्होंने कहा कि जोन और सेक्टर प्रभारी पद तैनाती के लिए 31 चिकित्सकों की डिमांड भेजी थी। सभी चिकित्सकों को ड्यूटी ज्वाइन करने के आदेश जारी कर दिए गए थे। इसमें 16 चिकित्सक ड्यूटी ज्वाइन कर चुके हैं। जबकि 15 चिकित्सक अगले दो-तीन दिनों में ड्यूटी ज्वाइन करेंगे।


आगे पढ़ें

115 चिकित्सकों की आउटसोर्स पर होगी तैनाती



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *