February 28, 2021

Bird Flu: हरिद्वार में भी बर्फ फ्लू की दस्तक, कौवे का सैंपल आया पॉजिटिव, बाहरी राज्यों से मुर्गे लाने पर रोक 


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हरिद्वार
Updated Mon, 18 Jan 2021 07:19 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

उत्तराखंड में देहरादून और कोटद्वार के बाद अब हरिद्वार जिले में भी बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है। वन विभाग की ओर से भेजे गए सैंपलों में से एक कौवे की बर्ड फ्लू की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। हालांकि, राहत देने वाली बात यह है कि पोल्ट्री फार्म से लिए गए सभी 54 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 

जिलाधिकारी सी रवि शंकर ने बताया कि वन प्रभाग को जिले में अभी तक 14 पक्षी मृत मिले हैं। इनमें से 12 जनवरी को वन विभाग की ओर से जिले के विभिन्न स्थानों से मृत हालत में मिले चार कौवों के सैंपल को बर्ड फ्लू की जांच के लिए भोपाल भेजा गया था। जिनमें से रोशनाबाद स्पोर्ट्स स्टेडियम के पास से मृत मिले एक कौवे के सैंपल में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई। इसके अलावा इसी दिन पशुपालन विभाग विभाग की ओर से भी रुड़की और नारसन ब्लॉक क्षेत्र से पोल्ट्री फार्म और पालतू बत्तखों के 54 सैंपल जांच के लिए बरेली भेजे गए थे, लेकिन बरेली भेजे गए सभी सैंपल निगेटिव आए हैं।

जिलाधिकारी ने बताया कि बर्ड फ्लू का एक मामला सामने आने के बाद जनपद में 16 रेपिड रेस्पॉस टीम का गठन कर दिया गया है। जिसमें पशु चिकित्साधिकारी, पशु फार्मासिस्ट, पशुधन प्रसार अधिकारी और वैक्सीनेटर या पशुधन सहायक को शामिल किया गया है। टीम के सदस्य सैंपल लेने के साथ ही लोगों को जागरूक करने का कार्य करेंगे। इसके लिए जनपद में प्रचार-प्रसार के लिए होर्डिंग और बैनर भी लगाए जाएंगे। एक हेल्पलाइन नंबर भी बना दिया गया है। जिस पर बर्ड फ्लू से संबंधी कोई भी जानकारी दे सकते हैं। सूचना मिलने पर टीम सैंपल लेने से लेकर रोकने के लिए तुरंत आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। जिलाधिकारी ने बताया कि जल्द ही पॉल्ट्री फार्मों से सैंपल लेने का कार्य शुरू किया जाएगा। 

लालढांग में मृत मिला कौआ
लालढांग में सुदन डबराल के बगीचे में मृत कौआ मिलने से ग्रामीणों में हड़कंप मच गया है। चिड़ियापुर रेंज की वन चौकी कटेबड़ के वन कर्मियों को सूचना दे दी गई है। ग्रामीण सुदन डबराल ने बताया कि उनके बगीचे में मरा हुआ कौवा पड़ा दिखाई दिया। बर्ड फ्लू की आशंका को देखते हुए वन अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है। मामले को देखते हुए ग्रामीणों में दहशत होने लगी है। 

मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डा. योगेश भारद्वाज ने बताया कि रोशनाबाद स्पोर्ट्स स्टेडियम में मृत मिले कौवे की बर्ड फ्लू की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद इस क्षेत्र के आस-पास के मुर्गी फार्मों की खोज शुरू कर दी गई है, ताकि जरूरी कदम उठाए जा सकें। 

साथ ही जिन राज्यों में बर्ड फ्लू के केस सामने आ रहे हैं, वहां से मुर्गे लाने पर जिलाधिकारी ने रोक लगा दी है। अगर इसके बावजूद भी कोई ऐसा करता पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा जनपद में चिकन बेचने वालों की दुकानों से मुर्गों की सैंपलिंग करने का काम शुरू किया जाएगा। 

गंगा किनारे के पक्षियों पर निगरानी के निर्देश 
जिलाधिकारी ने गंगा नदी के किनारों और उनके पास के गांवों के मुर्गी फार्मों पर विशेष निगरानी के निर्देश दिए हैं। कहा है कि बाहर से आने वाले पक्षियों से संक्रमण की फैलने की आशंका अधिक रहती है। इसलिए गंगा नदी और तालाबों पर विशेष ध्यान रखा जाए। डीएफओ नीरज शर्मा ने बताया कि बाहरी पक्षियों पर निगरानी के लिए रेंजों में टीमों का गठन कर दिया गया है। 

ठीक से पकाकर कर खाएं मांस, नहीं घबराने की जरूरत 
डा. योगेश भारद्वाज का कहना है कि अंडा व चिकन को ठीक से पकाकर खाएं। इससे इनके सेवन से निश्चित रूप से कोई दिक्कत नहीं होगी। कहा कि बर्ड फ्लू को लेकर किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। केवल सावधान और जागरूक रहने की जरूरत है। 

उत्तराखंड में देहरादून और कोटद्वार के बाद अब हरिद्वार जिले में भी बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है। वन विभाग की ओर से भेजे गए सैंपलों में से एक कौवे की बर्ड फ्लू की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। हालांकि, राहत देने वाली बात यह है कि पोल्ट्री फार्म से लिए गए सभी 54 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 

जिलाधिकारी सी रवि शंकर ने बताया कि वन प्रभाग को जिले में अभी तक 14 पक्षी मृत मिले हैं। इनमें से 12 जनवरी को वन विभाग की ओर से जिले के विभिन्न स्थानों से मृत हालत में मिले चार कौवों के सैंपल को बर्ड फ्लू की जांच के लिए भोपाल भेजा गया था। जिनमें से रोशनाबाद स्पोर्ट्स स्टेडियम के पास से मृत मिले एक कौवे के सैंपल में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई। इसके अलावा इसी दिन पशुपालन विभाग विभाग की ओर से भी रुड़की और नारसन ब्लॉक क्षेत्र से पोल्ट्री फार्म और पालतू बत्तखों के 54 सैंपल जांच के लिए बरेली भेजे गए थे, लेकिन बरेली भेजे गए सभी सैंपल निगेटिव आए हैं।

जिलाधिकारी ने बताया कि बर्ड फ्लू का एक मामला सामने आने के बाद जनपद में 16 रेपिड रेस्पॉस टीम का गठन कर दिया गया है। जिसमें पशु चिकित्साधिकारी, पशु फार्मासिस्ट, पशुधन प्रसार अधिकारी और वैक्सीनेटर या पशुधन सहायक को शामिल किया गया है। टीम के सदस्य सैंपल लेने के साथ ही लोगों को जागरूक करने का कार्य करेंगे। इसके लिए जनपद में प्रचार-प्रसार के लिए होर्डिंग और बैनर भी लगाए जाएंगे। एक हेल्पलाइन नंबर भी बना दिया गया है। जिस पर बर्ड फ्लू से संबंधी कोई भी जानकारी दे सकते हैं। सूचना मिलने पर टीम सैंपल लेने से लेकर रोकने के लिए तुरंत आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। जिलाधिकारी ने बताया कि जल्द ही पॉल्ट्री फार्मों से सैंपल लेने का कार्य शुरू किया जाएगा। 

लालढांग में मृत मिला कौआ

लालढांग में सुदन डबराल के बगीचे में मृत कौआ मिलने से ग्रामीणों में हड़कंप मच गया है। चिड़ियापुर रेंज की वन चौकी कटेबड़ के वन कर्मियों को सूचना दे दी गई है। ग्रामीण सुदन डबराल ने बताया कि उनके बगीचे में मरा हुआ कौवा पड़ा दिखाई दिया। बर्ड फ्लू की आशंका को देखते हुए वन अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है। मामले को देखते हुए ग्रामीणों में दहशत होने लगी है। 


आगे पढ़ें

बर्ड फ्लू प्रभावित राज्यों से मुर्गे लाने पर रोक 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *