February 26, 2021

सम्मान निधि: उत्तराखंड में गरीब किसानों की योजना में अमीरों ने भी डकार ली करोड़ों की राशि


रुपये(प्रतीकात्मक तस्वीर)
– फोटो : pixabay

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

केंद्र सरकार की ओर से आर्थिक रूप से कमजोर किसानों के लिए चलाई जा रही सम्मान निधि योजना में अमीरों ने भी करोड़ों की राशि डकार ली। प्रदेश में 8861 आयकर दाताओं के बैंक खातों में लगभग 9.16 करोड़ की राशि जमा हुई है।

लाभार्थियों के सत्यापन में मामला पकड़ में आने के लिए सरकार ने रिकवरी की कार्रवाई शुरू कर दी है। बैंक खाते में वसूली की राशि न होने पर जिलाधिकारी के माध्यम से आरसी जारी की जाएगी। 

दिसंबर 2019 में केंद्र सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि योजना शुरू की थी। प्रदेश में अब तक 8.72 लाख किसानों को इस योजना में सालाना छह हजार रुपये की राशि किस्तों में मिली है लेकिन प्रदेश में 8861 आयकर दाताओं अपात्र लोगों ने भी सम्मान निधि ली है।

जबकि योजना की शर्तों के अनुसार आयकर दाता सम्मान निधि के लिए पात्र नहीं है। इसके बावजूद भी प्रदेश में आयकर दाताओं ने 9.16 करोड़ की राशि पा ली है। आधार लिंक व अन्य दस्तावेजों के सत्यापन में मामला पकड़ में आने पर सरकार ने रिकवरी की कार्रवाई शुरू कर दी है। 

जिला            सम्मान निधि पाने वाले आयकर दाता            धनराशि( लाख रुपये में)
अल्मोड़ा             1023                                                   101.8 लाख  
बागेश्वर                247                                                     25.32 लाख
चमोली                396                                                     42.62 लाख
चंपावत                323                                                     32.16 लाख
देहरादून              969                                                      102.94 लाख
हरिद्वार                1212                                                    123.86 लाख
नैनीताल               907                                                       91.28 लाख
पौड़ी                    292                                                      31.76 लाख
पिथौरागढ़             426                                                      44.92 लाख
रुद्रप्रयाग              323                                                       31.96 लाख
टिहरी                  1483                                                      153.56 लाख
यूएस नगर            705                                                         74.96 लाख
उत्तरकाशी            555                                                          59.66 लाख

जिन आयकर दाताओं के बैंक खातों में पीएम किसान सम्मान निधि की राशि जमा हुई है। उनसे वसूली की जाएगी। इसके लिए सरकार की ओर से सभी जिलाधिकारियों को पत्र जारी कर वसूली करने को कहा गया है। यदि बैंक खाते में वसूली की राशि नहीं है। तो आरसी जारी कर सरकारी पैसे की वसूली की जाएगी।
 – अजय शर्मा, संयुक्त निदेशक, कृषि

सार

  • आयकर जमा करने वालों को मिली 9.16 करोड़ की किसान सम्मान निधि
  • प्रदेश में नियमों के विपरीत 8861 आयकर दाताओं के खातों में जमा हुई राशि
  • सरकार ने शुरू की वसूली की कार्रवाई, बैंक खाते में पैसा न होने जारी होगी आरसी

विस्तार

केंद्र सरकार की ओर से आर्थिक रूप से कमजोर किसानों के लिए चलाई जा रही सम्मान निधि योजना में अमीरों ने भी करोड़ों की राशि डकार ली। प्रदेश में 8861 आयकर दाताओं के बैंक खातों में लगभग 9.16 करोड़ की राशि जमा हुई है।

लाभार्थियों के सत्यापन में मामला पकड़ में आने के लिए सरकार ने रिकवरी की कार्रवाई शुरू कर दी है। बैंक खाते में वसूली की राशि न होने पर जिलाधिकारी के माध्यम से आरसी जारी की जाएगी। 

दिसंबर 2019 में केंद्र सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि योजना शुरू की थी। प्रदेश में अब तक 8.72 लाख किसानों को इस योजना में सालाना छह हजार रुपये की राशि किस्तों में मिली है लेकिन प्रदेश में 8861 आयकर दाताओं अपात्र लोगों ने भी सम्मान निधि ली है।

जबकि योजना की शर्तों के अनुसार आयकर दाता सम्मान निधि के लिए पात्र नहीं है। इसके बावजूद भी प्रदेश में आयकर दाताओं ने 9.16 करोड़ की राशि पा ली है। आधार लिंक व अन्य दस्तावेजों के सत्यापन में मामला पकड़ में आने पर सरकार ने रिकवरी की कार्रवाई शुरू कर दी है। 


आगे पढ़ें

जिलावार सम्मान निधि पाने वाले अपात्र आयकर दाताओं का ब्योरा



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed