March 9, 2021

देहरादून: चेकिंग में लापरवाही बरतने पर चौकी प्रभारी समेत छह नपे, 12 डीएसपी हुए इधर से उधर


एसएसपी योगेंद्र सिंह रावत
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

देहरादून में रात्रि चेकिंग में लापरवाही बरतने के आरोप में एसएसपी ने एक चौकी प्रभारी समेत चार पुलिसकर्मियों को लाइन का रास्ता दिखाया है। वहीं  पीएसी के दो कांस्टेबलों के खिलाफ भी कार्रवाई के आदेश दिए हैं। एसएसपी सोमवार देर रात औचक निरीक्षण पर निकले थे। 

निरीक्षण के दौरान एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत थापा पटेलनगर, रायपुर, बालावाला, बाजार क्षेत्र में पिकेट आदि का निरीक्षण कर रहे थे। इस दौरान बाजार क्षेत्र और बालावाला में पिकेट ड्यूटी में मौजूद पीएसी कर्मियों की लापरवाही सामने आई।

इसके साथ ही बालावाला चौकी प्रभारी प्रेमसिंह नेगी, हेड कांस्टेबल विजय जखमोला थाना पटेलनगर, कांस्टेबल लक्ष्मण सिंह रायपुर और कांस्टेबल आदेश कुमार थाना पटेलनगर को लाइन हाजिर किया गया। इनके साथ ही पीएसी कर्मचारियों कांस्टेबल पवन कुमार और कांस्टेबल देवेंद्र को भी लाइन हाजिर कर दिया गया है।

पुलिस मुख्यालय ने प्रदेश में 12 पुलिस उपाधीक्षकों (डीएसपी) के ट्रांसफर किए हैं। इनमें नैनीताल से विजय थापा को ऊधमसिंहनगर भेजा गया है। सीओ डालनवाला विवेक कुमार को हरिद्वार ट्रांसफर किया गया है।

ऊधमसिंहनगर से महेश चंद बिंजौला को टिहरी, महेश चंद जोशी को बागेश्वर से आईआरबी प्रथम, विपिन चंद पंत को चंपावत से बागेश्वर, विरेंद्र दत्त उनियाल को पुलिस मुख्याल से देहरादून, जूही मनराल को टिहरी से दून, रविंद्र कुमार चमोली को चमोली से एटीसी हरिद्वार, संगीता को बागेश्वर से विजिलेंस हल्द्वानी सेक्टर, अविनाश वर्मा को आईआरबी प्रथम से चंपावत और बीएस चौहान को सीआईडी मुख्यालय से हरिद्वार भेजा गया है।

डीआईजी गढ़वाल नीरू गर्ग ने पहाड़ में बढ़ते साइबर क्राइम को देखते हुए पुलिस को साइबर क्राइम से जुड़ी हर शिकायत दर्ज करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि साइबर सेल को बदलती तकनीक के साथ प्रशिक्षित भी किया जा रहा है। इन अपराधों के नियंत्रण में सबसे ज्यादा जनता का जागरूक होना आवश्यक है।

डीआईजी गर्ग ने कहा कि पहाड़ में पुलिस कार्यालय व आवासीय भवनों की स्थिति बहुत खराब है। इनकी मरम्मत और सुधारीकरण के लिए शासन स्तर पर ठोस प्रयास किए जाएंगे। थाना व कोतवाली में तैनाती के लिए जुगाड़बाजी नहीं चलेगी। 

मंगलवार को डीआईजी गढ़वाल नीरू गर्ग तैनाती के बाद पहली बार मुख्यालय पौड़ी पहुंचीं। यहां आयोजित पत्रकार वार्ता में उन्होंने कहा कि पहाड़ के प्रत्येक ज्वलंत मुद्दे पर पुलिस ठोस व सकारात्मक रूप से कार्य करेगी। उन्होंने कोटद्वार लूट प्रकरण पर अब तक हुए कार्य की समीक्षा भी की। उन्होंने सीओ कोटद्वार को प्रकरण की जांच का नेतृत्व कर जल्द खुलासा करने के निर्देश दिए।

कहा कि पुलिस कर्मियों के कल्याण के लिए पुलिस विभाग क्या-2 कर सकता है, इस पर विशेष रूप से कार्य किया जा रहा है। पुलिस के पास कम और राजस्व विभाग के पास क्षेत्रों में असंतुलन है, जिसे संतुलित किए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं। नई स्थानांतरण नीति के तहत अब तबादले पारदर्शिता के साथ होंगे। कर्मियों की समस्याओं का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा। कहा कि थाना व कोतवाली में तैनाती के लिए जुगाड़बाजी नहीं चलेगी। इस अवसर पर एसएसपी पौड़ी पी. रेणुका देवी भी मौजूद रहीं।

सार

  • सोमवार देर रात औचक निरीक्षण पर निकले थे एसएसपी 
  • दो पीएएसी के कांस्टेबलों पर भी होगी कार्रवाई 

विस्तार

देहरादून में रात्रि चेकिंग में लापरवाही बरतने के आरोप में एसएसपी ने एक चौकी प्रभारी समेत चार पुलिसकर्मियों को लाइन का रास्ता दिखाया है। वहीं  पीएसी के दो कांस्टेबलों के खिलाफ भी कार्रवाई के आदेश दिए हैं। एसएसपी सोमवार देर रात औचक निरीक्षण पर निकले थे। 

निरीक्षण के दौरान एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत थापा पटेलनगर, रायपुर, बालावाला, बाजार क्षेत्र में पिकेट आदि का निरीक्षण कर रहे थे। इस दौरान बाजार क्षेत्र और बालावाला में पिकेट ड्यूटी में मौजूद पीएसी कर्मियों की लापरवाही सामने आई।

इसके साथ ही बालावाला चौकी प्रभारी प्रेमसिंह नेगी, हेड कांस्टेबल विजय जखमोला थाना पटेलनगर, कांस्टेबल लक्ष्मण सिंह रायपुर और कांस्टेबल आदेश कुमार थाना पटेलनगर को लाइन हाजिर किया गया। इनके साथ ही पीएसी कर्मचारियों कांस्टेबल पवन कुमार और कांस्टेबल देवेंद्र को भी लाइन हाजिर कर दिया गया है।


आगे पढ़ें

12 डीएसपी इधर से उधर, सीओ डालनवाला हरिद्वार गए  



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *