February 24, 2021

क्रिकेट के मैदान में उत्तराखंड के खिलाड़ियों की धमक, दिल्ली की टीम में पांच होनहारों ने बनाई जगह 


प्रतीकात्मक तस्वीर
– फोटो : सोशल मीडिया

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

देश के क्रिकेट जगत में उत्तराखंड के खिलाड़ियों ने अपना दबदबा कायम किया है। देश के कई राज्यों की टीम में उत्तराखंड के खिलाड़ियों ने जगह बनाई है। सबसे सुखद स्थिति देश की राजधानी दिल्ली की है। जहां सैयद मुश्ताक ट्रॉफी के लिए चुनी गई 20 सदस्यीय टीम में उत्तराखंड के पांच खिलाड़ी जगह बनाने में कामयाब रहे हैं। इसके अलावा भी कई अन्य खिलाड़ियों के दूसरे राज्यों की टीमों से चुने जाने की संभावना है।

अभी उत्तराखंड व दिल्ली समेत कुछ अन्य राज्यों ने ही अपनी टीमों की घोषणा की है। जिन राज्यों की टीम अभी घोषित है, उनमें से कई में प्रदेश के खिलाड़ियों की जगह बनाने की संभावना है। सैयद मुश्ताक टी-20 ट्रॉफी के लिए चुनी गई दिल्ली की टीम में उत्तराखंड के पांच किक्रेटर जगह बनाने में कामयाब रहे हैं।

2018 के सत्र में कूच बेहार ट्रॉफी में दिल्ली की कप्तानी करने वाले टिहरी के आयुष बड़ोनी ने टीम में अपनी जगह बनाई है। जूनियर क्रिकेट में शानदार प्रर्दशन का उन्हें ईनाम मिला है। आयुष ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करने के साथ ही गेंदबाजी में भी उपयोगी हैं। इसके अलावा विकेटकीपर अनुज रावत, लेफ्ट आर्म स्पिनर पवन नेगी, बल्लेबाज वैभव कांडपाल और मीडियम पेसर पवन सुयाल भी दिल्ली की टीम में शामिल हैं। 

भारतीय वन डे टीम के मध्यक्रम की रीढ़ कहे जाने वाले मनीष पांडे कर्नाटक टीम का हिस्सा हैं। 2009 में आईपीएल में शतक जड़कर उन्होंने पहला भारतीय होने का गौरव हासिल किया। मनीष आईपीएल में मुंबई, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरू, पुणे वॉरियर्स इंडिया, कोलकाता नाइट राइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद की टीम के लिए खेल चुके हैं।

उत्तराखंड के ही एक अन्य क्रिकेटर अभिमन्यु ईश्वरन अभी बंगाल की सीनियर टीम के कप्तान हैं। अभिमन्यु ने पिछले कुछ सालों के दौरान बोर्ड ट्रॉफी में अपने प्रर्दशन से सबका ध्यान खींचा है। वो भारतीय क्रिकेट टीम में बतौर ओपनर जगह बनाने का प्रयास कर रहे हैं। पिछले सत्र में बेहतरीन क्रिकेट के जरिए वो चयनकर्ताओं को प्रभावित करने में कामयाब रहे थे।

विश्व विजेता अंडर-19 टीम के तेज गेंदबाज कमलेश नगरकोटी की गिनती देश के सबसे तेज गेंदबाजों में होती है। हालांकि चोट के कारण कमलेश काफी समय से मैदान से बाहर रहे हैं। आईपीएल में केकेआर के लिए खेलने वाले कमलेश शानदार फील्डर भी हैं।

विकेटकीपर बल्लेबाज आर्यन जुयाल पिछले साल यूपी की टीम में जगह बनाने में कामयाब रहे थे। इस वर्ष भी वो कैंप तक पहुंचे हैं। कैंप के बाद टीम की घोषणा की जाएगी। आर्यन विश्व कप खेलने वाली भारतीय अंडर-19 टीम का भी हिस्सा रहे हैं। 

हिमाचल के लिए खेलने वाले प्रियांशु खंडूड़ी के कुछ दिन पूर्व चोटिल होने की सूचना है। माना जा रहा है कि उन्हें कुछ समय मैदान से बाहर रहना पड़ सकता है। प्रियांशु ने अपने प्रदर्शन से बेहद कम समय में हिमाचल प्रदेश की टीम में महत्वपूर्ण जगह बनाई है। 

विस्फोटक बल्लेबाजों में शामिल अभय नेगी ने पिछले सत्र में मेघालय की ओर से खेलते हुए मिजोरम के खिलाफ महज 14 गेंदों में अर्द्धशतक जमाया था। उन्होंने रॉबिन उथप्पा का सबसे तेज अर्द्धशतक का रिकॉर्ड तोड़ा। उन्होंने टी-20 क्रिकेट में केएल राहुल की बराबरी की।

इसके अलावा शाश्वत रावत भी प्रमुख क्रिकेटरों में शामिल हैं। महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज से क्रिकेट का ककहरा सीखने वाले शाश्वत पिछले सत्र में बड़ौदा की टीम में जगह बनाने में कामयाब रहे थे। 2019 में अपने शानदार प्रर्दशन के दम पर उन्होंने भारतीय अंडर-19 टीम में भी जगह बनाई थी।

पिछले सत्र में उत्तराखंड की कप्तानी करने वाले उन्मुक्त चंद अपनी कप्तानी में भारत को अंडर-19 वर्ल्ड कप जितवा चुके हैं। उत्तराखंड के साथ उनका पिछला सत्र बहुत अच्छा नहीं रहा लेकिन वो प्रतिभाशाली युवा बल्लेबाजों में गिने जाते हैं। 

बेटियां भी पीछे नहीं
क्रिकेट के मैदान में उत्तराखंड की बेटियां भी पीछे नहीं हैं। एकता बिष्ट और मानसी जोशी भारतीय क्रिकेट टीम में जगह बनाने में कामयाब रही हैं। इसके अलावा स्नेहा राणा ने भी भारतीय टीम मं जगह बनाई है। स्नेहा हरियाणा और पंजाब की टीम भी हिस्सा रह चुकी है।

हमारे खिलाड़ियों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। जब तक राज्य को मान्यता नहीं थी तब तक हमारे प्रतिभावान खिलाड़ियों को भी दूसरे राज्यों का रुख करना पड़ा है। हमारे खिलाड़ी अलग-अलग टीमों में भी अपनी काबिलियत दिखा रहे हैं। आने वाले वक्त में भारतीय टीम में भी उत्तराखंड का दबदबा होगा। 
महिम वर्मा, सचिव, क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड

सार

  • पिछले सत्र तक कई अन्य राज्यों की टीम में भी शामिल रहे उत्तराखंड के खिलाड़ी, इस साल भी जगह बनाने की उम्मीद

विस्तार

देश के क्रिकेट जगत में उत्तराखंड के खिलाड़ियों ने अपना दबदबा कायम किया है। देश के कई राज्यों की टीम में उत्तराखंड के खिलाड़ियों ने जगह बनाई है। सबसे सुखद स्थिति देश की राजधानी दिल्ली की है। जहां सैयद मुश्ताक ट्रॉफी के लिए चुनी गई 20 सदस्यीय टीम में उत्तराखंड के पांच खिलाड़ी जगह बनाने में कामयाब रहे हैं। इसके अलावा भी कई अन्य खिलाड़ियों के दूसरे राज्यों की टीमों से चुने जाने की संभावना है।

अभी उत्तराखंड व दिल्ली समेत कुछ अन्य राज्यों ने ही अपनी टीमों की घोषणा की है। जिन राज्यों की टीम अभी घोषित है, उनमें से कई में प्रदेश के खिलाड़ियों की जगह बनाने की संभावना है। सैयद मुश्ताक टी-20 ट्रॉफी के लिए चुनी गई दिल्ली की टीम में उत्तराखंड के पांच किक्रेटर जगह बनाने में कामयाब रहे हैं।

2018 के सत्र में कूच बेहार ट्रॉफी में दिल्ली की कप्तानी करने वाले टिहरी के आयुष बड़ोनी ने टीम में अपनी जगह बनाई है। जूनियर क्रिकेट में शानदार प्रर्दशन का उन्हें ईनाम मिला है। आयुष ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करने के साथ ही गेंदबाजी में भी उपयोगी हैं। इसके अलावा विकेटकीपर अनुज रावत, लेफ्ट आर्म स्पिनर पवन नेगी, बल्लेबाज वैभव कांडपाल और मीडियम पेसर पवन सुयाल भी दिल्ली की टीम में शामिल हैं। 

भारतीय वन डे टीम के मध्यक्रम की रीढ़ कहे जाने वाले मनीष पांडे कर्नाटक टीम का हिस्सा हैं। 2009 में आईपीएल में शतक जड़कर उन्होंने पहला भारतीय होने का गौरव हासिल किया। मनीष आईपीएल में मुंबई, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरू, पुणे वॉरियर्स इंडिया, कोलकाता नाइट राइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद की टीम के लिए खेल चुके हैं।

उत्तराखंड के ही एक अन्य क्रिकेटर अभिमन्यु ईश्वरन अभी बंगाल की सीनियर टीम के कप्तान हैं। अभिमन्यु ने पिछले कुछ सालों के दौरान बोर्ड ट्रॉफी में अपने प्रर्दशन से सबका ध्यान खींचा है। वो भारतीय क्रिकेट टीम में बतौर ओपनर जगह बनाने का प्रयास कर रहे हैं। पिछले सत्र में बेहतरीन क्रिकेट के जरिए वो चयनकर्ताओं को प्रभावित करने में कामयाब रहे थे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *