March 1, 2021

उत्तराखंड: जीआरपी की टीम ने 16 साल से फरार इनामी बदमाश संतोष को किया गिरफ्तार


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून
Updated Tue, 29 Dec 2020 06:49 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

16 साल से फरार चल रहा इनामी कुख्यात संतोष अब जीआरपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। जानकारी के अनुसार, जीआरपी देहरादून की टीम ने संतोष को फरीदाबाद स्थित उसके फार्म हाउस से गिरफ्तार किया। संतोष साल 2004 में पेशी के दौरान पुलिस अभिरक्षा से फरार हुआ था। 

बता दें कि प्रदेश में कुल 209 इनामी बदमाश हैं। इन्हें पकड़ने के लिए समय-समय पर अभियान भी चलाए जाते हैं, लेकिन हर साल कुछ बदमाशों को पकड़कर अभियान बंद कर दिया जाता है। वहीं, ये शातिर बदमाश दशकों से पुलिस को चकमा देने में कामयाब होते रहे हैं।

अब उत्तराखंड एसटीएफ को 50 बदमाश हर साल पकड़ने का लक्ष्य मिला है। ऐसे में अब पुलिस बदमाशों को पकड़ने के लिए फिर से सक्रिय हो गई है। 

ये कुख्यात भी हैं फरार
सुरेश शर्मा- 20 साल से फरार। चमोली में हत्या का मुकदमा, इनाम एक लाख रुपये। 
संतोष- डकैती और जेल से फरार होने का आरोप। जीआरपी में मुकदमा दर्ज है। 16 साल से है फरार, इनाम 10 हजार रुपये। 
रणदीप उर्फ राजा- हत्या और हत्या के प्रयास का आरोप। किच्छा में मुकदमा दर्ज है, इनाम 20 हजार रुपये। 10 सालों से फरार। 
संदीप- विकासनगर के इस बदमाश पर डकैती का आरोप है। बीते लगभग पांच सालों से फरार है। इनाम 10 हजार रुपये। 

16 साल से फरार चल रहा इनामी कुख्यात संतोष अब जीआरपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। जानकारी के अनुसार, जीआरपी देहरादून की टीम ने संतोष को फरीदाबाद स्थित उसके फार्म हाउस से गिरफ्तार किया। संतोष साल 2004 में पेशी के दौरान पुलिस अभिरक्षा से फरार हुआ था। 

बता दें कि प्रदेश में कुल 209 इनामी बदमाश हैं। इन्हें पकड़ने के लिए समय-समय पर अभियान भी चलाए जाते हैं, लेकिन हर साल कुछ बदमाशों को पकड़कर अभियान बंद कर दिया जाता है। वहीं, ये शातिर बदमाश दशकों से पुलिस को चकमा देने में कामयाब होते रहे हैं।

अब उत्तराखंड एसटीएफ को 50 बदमाश हर साल पकड़ने का लक्ष्य मिला है। ऐसे में अब पुलिस बदमाशों को पकड़ने के लिए फिर से सक्रिय हो गई है। 

ये कुख्यात भी हैं फरार
सुरेश शर्मा- 20 साल से फरार। चमोली में हत्या का मुकदमा, इनाम एक लाख रुपये। 
संतोष- डकैती और जेल से फरार होने का आरोप। जीआरपी में मुकदमा दर्ज है। 16 साल से है फरार, इनाम 10 हजार रुपये। 
रणदीप उर्फ राजा- हत्या और हत्या के प्रयास का आरोप। किच्छा में मुकदमा दर्ज है, इनाम 20 हजार रुपये। 10 सालों से फरार। 
संदीप- विकासनगर के इस बदमाश पर डकैती का आरोप है। बीते लगभग पांच सालों से फरार है। इनाम 10 हजार रुपये। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *