February 26, 2021

allahabad University : पीएचडी प्रवेश परीक्षा के सवालों ने उलझाया


अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज
Updated Mon, 18 Jan 2021 01:02 AM IST

prayagraj news : इलाहाबाद विवि से पीएचडी की परीक्षा देकर बाहर निकलतीं छात्राएं।
– फोटो : prayagraj

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) एवं संघटक महाविद्यालयों में पीएचडी प्रवेश के लिए रविवार को आयोजित संयुक्त शोध प्रवेश परीक्षा (क्रेट)-2020 में 62.97 फीसदी अभ्यर्थियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। प्रवेश परीक्षा में तकरीबन सभी विषयों के प्रश्रपत्र उलझाऊ और स्तरीय रहे। 

इविवि एवं संघटक कॉलेजों में पीएचडी की 625 सीटों पर प्रवेश के लिए प्रयागराज के 12 केंद्रों में क्रेट का आयोजन किया गया। इनमें 203 सीटें इविवि में विभिन्न पाठ्यक्रमों की हैं और बाकी सीटें संघटक महाविद्यालयों की हैं। परीक्षा के लिए कुल 6092 अभ्यर्थी पंजीकृत थे। इनमें से 3836 परीक्षार्थियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। सर्वाधिक 69.70 फीसदी उपस्थिति नारायन उच्च शिक्षा संस्थान लॉ कॉलेज में रही। 

वहीं, आर्य कन्या डिग्री कॉलेज में 68.33 फीसदी, आर्य कन्या इंटर कॉलेज में 65.85, सीएमपी डिग्री कॉलेज में 59.41, जीनियस इंटर कॉलेज में 55.95, गवर्नमेंट इंटर कॉलेज में 66.67, केपी उच्च शिक्षा संस्थान में 59.73, रानी रेवती देवी एसवीएन इंटर कॉलेज में 57.88, सरस्वती बाल मंदिर इंटर कॉलेज में 66.26, श्री महावीर प्रसाद इंटरमीडिएट कॉलेज में 59.34, बाल शिक्षा निकेतन इंटर कॉलेज में 67.14 और  माधव ज्ञान इंटर कॉलेज में 64.23 फीसदी उपस्थिति रही। 

संयुक्त शोध प्रवेश परीक्षा कुल 300 अंकों की थी। इसमें 100 अंकों के 50 सवाल वस्तुनिष्ठ प्रकार के थे, जिनके जवाब ओएमआर शीट पर देने थे। वहीं, 200 अंकों की लिखित परीक्षा थी, जिनमें 12-12 अंकों के 10 अति लघुउत्तरीय प्रकार, 20-20 अंकों के दो लघु उत्तरीय और 40 अंकों का एक दीर्घ उत्तरीय प्रश्र का जवाब लिखना था। अभ्यर्थियों ने बताया कि पेपर स्तरीय था। ज्यादातर विषयों के सवाल उलझाई और कठिन रहे।

परीक्षा केंद्रों में लगाए गए मेटल डिटेक्टर

परीक्षा केंद्र में मोबाइल ले जाना प्रतिबंधित था और कोविड के कारण अभ्यर्थियों की तलाशी भी नहीं ली जा सकती थी, परीक्षा केंद्रों में मेडल डिटेक्टर का इस्तेमाल किया गया। इसके साथ ही परीक्षा केंद्र आने वाले सभी अभ्यर्थियों को मास्क का वितरण किया और उनकी थर्मल स्क्रीनिंग भी हुई।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed