March 1, 2021

मऊ हत्याकांड: पीआरवी की गाड़ी फूंकने और हंगामा करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज, छावनी में तब्दील गांव


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में युवक की हत्या के बाद से गांव में तनाव की स्थिति है। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है। इलाका छावनी में तब्दील कर दिया है। मंगलवार को हत्या के बाद हुए हंगामे में पुलिस की पीआरवी फूंकने वालों के खिलाफ गुरुवार को पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। इसमें करीब पचास-साठ अज्ञात को आरोपित किया है।

जानकारी के अनुसार, जिले के चिरैयाकोट थाना क्षेत्र के असलपुर गांव में मंगलवार की रात युवक की हत्या मामले में बुधवार सुबह आरोपी पर हत्या और एससी-एसटी एक्ट का केस दर्ज कर लिया गया था। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए एसपी ने पांच टीमें बनाई हैं। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए गांव में फोर्स की तैनाती कर दी गई है। गौरतलब है कि हत्याकांड के आरोपी पर सितंबर 2019 में हुई पूर्व प्रधान मुन्ना बागी की हत्या मामले में 50 हजार का इनाम घोषित है।

गोली मारकर हुई हत्या
चिरैयाकोट थाने के असलपुर गांव की दलित बस्ती निवासी युवक अरविंद(25) की मंगलवार की रात गांव के बाहर सिवान में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उस समय वह पुलिस की तैयारी करने वाले गांव के युवक अमन और अभिषेक के साथ था। अमन और अभिषेक ने बताया कि गोली लगने पर अरविंद ने राहुल का नाम लिया था।

इसके बाद आक्रोशित लोगों ने दूसरी जाति की बस्ती पर हमला कर एक बुजुर्ग व्यक्ति को घायल कर दिया था। रोकने का प्रयास करने पर पुलिस के वाहन को आग के हवाले कर दिया था। सूचना पर जब भारी संख्या में फोर्स पहुंची तो मामला शांत हुआ, लेकिन दलित बस्ती के लोगों ने अरविंद का शव देने से इनकार कर दिया। 
 
मांग की कि पहले आरोपी राहुल की गिरफ्तारी और पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता दी जाए। डीएम अमित सिंह बंसल और एसपी सुशील घुले ने कार्रवाई के साथ पीड़ित परिवार को अंत्योदय राशन कार्ड के साथ सीएम कोष से आर्थिक सहायता, समाज कल्याण विभाग से अरविंद के पिता को पेंशन, पीएम आवास के साथ नियमानुसार जमीन का पट्टा देने का आश्वासन दिया।

इसके बाद रात एक बजे लोगों ने शव पुलिस को सौंपा। अरविंद के पिता जीउत राम की तहरीर पर पुलिस ने राहुल सिंह के खिलाफ हत्या और एससी एसटी एक्ट में केस दर्ज कर लिया है। जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल ने बताया कि एससी एससी एक्ट की धनराशि पीड़ित परिवार को तत्काल आवंटित की जाएगी।  

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में युवक की हत्या के बाद से गांव में तनाव की स्थिति है। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है। इलाका छावनी में तब्दील कर दिया है। मंगलवार को हत्या के बाद हुए हंगामे में पुलिस की पीआरवी फूंकने वालों के खिलाफ गुरुवार को पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। इसमें करीब पचास-साठ अज्ञात को आरोपित किया है।

जानकारी के अनुसार, जिले के चिरैयाकोट थाना क्षेत्र के असलपुर गांव में मंगलवार की रात युवक की हत्या मामले में बुधवार सुबह आरोपी पर हत्या और एससी-एसटी एक्ट का केस दर्ज कर लिया गया था। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए एसपी ने पांच टीमें बनाई हैं। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए गांव में फोर्स की तैनाती कर दी गई है। गौरतलब है कि हत्याकांड के आरोपी पर सितंबर 2019 में हुई पूर्व प्रधान मुन्ना बागी की हत्या मामले में 50 हजार का इनाम घोषित है।

गोली मारकर हुई हत्या

चिरैयाकोट थाने के असलपुर गांव की दलित बस्ती निवासी युवक अरविंद(25) की मंगलवार की रात गांव के बाहर सिवान में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उस समय वह पुलिस की तैयारी करने वाले गांव के युवक अमन और अभिषेक के साथ था। अमन और अभिषेक ने बताया कि गोली लगने पर अरविंद ने राहुल का नाम लिया था।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *