February 25, 2021

पूर्वांचल में ओवैसी: बोले- अखिलेश ने 12 बार प्रदेश में आने से रोका, दोस्ती निभाने आया हूं


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी
Updated Tue, 12 Jan 2021 12:41 PM IST

जौनपुर के जलालपुर में ओमप्रकाश राजभर के साथ असदुद्दीन ओवैसी।
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी वाराणसी पहुंच गए। एयरपोर्ट पर पहुंचते ही उनके कार्यकर्ताओं की उनसे मिलने की होड़ मच गई। भीड़ के वजह से अफरा-तफरी का माहौल रहा। उनके आने के आधे घंटे बाद सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी पहुंच गए। मीडिया से बातचीत में ओवैसी ने कहा कि प्रदेश में जब अखिलेश यादव की सरकार की थी तो हमें 12 बार प्रदेश में आने से रोका गया था। अब मैं आ गया हूं। सुभासपा के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के साथ गठबंधन किया है, मैं दोस्ती निभाने आया हूं। इसके बाद ओवैसी जौनपुर के लिए रवाना हो गए।

जौनपुर जिले के जलालपुर में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के प्रमुख ओमप्रकाश राजभर के साथ पहुंचने पर एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी का कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। दोनों पर फूल बरसाए और माला पहनाई। आज सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर के साथ ओवैसी नए गठजोड़ की संभावना तलाशेंगे।

जौनपुर के बाद मुस्लिम बहुल जिले आजमगढ़ और मऊ में भी आज ओवैसी और ओपी राजभर कार्यकर्ताओं के साथ बैठक व सभाएं करेंगे। हाल ही में सुभासपा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष की मुलाकात के बाद गठजोड़ की उम्मीद है।

उधर, एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने भी शिवपाल यादव से मुलाकात की थी। वहीं, सुभासपा और आजाद समाज पार्टी के बीच भी बातचीत का दौर जारी है। ऐसे में ओवैसी की पूर्वांचल में मौजूदगी से सियासी सरगर्मी तेज होने की उम्मीद है। फिलहाल विधानसभा चुनाव अगले साल होंगे, इससे पहले मतदाताओं को अपने पाले में करने के लिए सियासी दल कोई मौका नहीं छोड़ना चाहेंगे।

यहां बता दें कि विधानसभा चुनाव 2017 में भाजपा और सुभासपा के बीच गठबंधन हुआ था। अजगरा विधानसभा में संयुक्त रैली में गठबंधन की घोषणा के बाद विधानसभा चुनाव में पूर्वांचल की कई सीटों पर बंटवारा हुआ था। मगर, वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद यह गठबंधन टूट गया। इसके बाद से ही सुभासपा नए साथियों के साथ अपनी सियासत को पूर्वांचल में मजबूत करने की कोशिश में जुटी है।

अखिलेश यादव भी जाएंगे जौनपुर:
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव वाराणसी एयरपोर्ट पहुंचे। इससे पहले एयरपोर्ट पर उमड़े सपाइयों की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सीआईएसएफ के जवानों और पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी। यहां से वे जौनपुर के लिए रवाना हो गए जहां, वह पूर्व मंत्री पारस नाथ यादव की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। साथ ही आजमगढ़ जिले का भी दौरा करेंगे।

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी वाराणसी पहुंच गए। एयरपोर्ट पर पहुंचते ही उनके कार्यकर्ताओं की उनसे मिलने की होड़ मच गई। भीड़ के वजह से अफरा-तफरी का माहौल रहा। उनके आने के आधे घंटे बाद सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी पहुंच गए। मीडिया से बातचीत में ओवैसी ने कहा कि प्रदेश में जब अखिलेश यादव की सरकार की थी तो हमें 12 बार प्रदेश में आने से रोका गया था। अब मैं आ गया हूं। सुभासपा के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के साथ गठबंधन किया है, मैं दोस्ती निभाने आया हूं। इसके बाद ओवैसी जौनपुर के लिए रवाना हो गए।

जौनपुर जिले के जलालपुर में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के प्रमुख ओमप्रकाश राजभर के साथ पहुंचने पर एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी का कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। दोनों पर फूल बरसाए और माला पहनाई। आज सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर के साथ ओवैसी नए गठजोड़ की संभावना तलाशेंगे।

जौनपुर के बाद मुस्लिम बहुल जिले आजमगढ़ और मऊ में भी आज ओवैसी और ओपी राजभर कार्यकर्ताओं के साथ बैठक व सभाएं करेंगे। हाल ही में सुभासपा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष की मुलाकात के बाद गठजोड़ की उम्मीद है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed