March 6, 2021

पब्लिक लाइब्रेरी में विधानमंडल की 1887 में हुई बैठक की आज मनेगी सालगिरह


अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज
Updated Fri, 08 Jan 2021 01:36 AM IST

prayagraj news : पब्लिक लाइब्रेरी प्रयागराज।
– फोटो : prayagraj

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

134 वर्ष पूर्व आठ जनवरी 1887 को विधानमंडल की पब्लिक लाइब्रेरी में हुई पहली बैठक की सालगिरह शुक्रवार को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य की मौजूदगी में मनाई जाएगी। दिन में एक बजे आयोजित इस कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित भी वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से इस आयोजन में शिरकत करेंगे। प्रयागराज गौरव अनुभूति आयोजन समिति द्वारा कराए जा रहे इस कार्यक्रम की तैयारियों को एक दिन पहले ही अंतिम रूप दे दिया गया। 

आयोजन समिति के सदस्यों ने बताया कि इस कार्यक्रम में सांसद केशरी देवी पटेल, डा. रीता बहुगुणा जोशी, पूर्व मंत्री डा. नरेंद्र कुमार सिंह गौर, जिला पंचायत अध्यक्ष रेखा सिंह, विधायक हर्षवर्धन बाजपेयी, विक्रमाजीत मौर्य, प्रवीण पटेल आदि भी शिरकत करेंगे। आयोजन समिति के सदस्यों में पूर्व विधायक दीपक पटेल, अवधेश चंद्र गुप्ता, दिलीप श्रीवास्तव, पवन श्रीवास्तव, अरुण अग्रवाल, व्रतशील शर्मा आदि शामिल हैं।

पार्षद पवन श्रीवास्तव ने बताय कि प्रयागराज को उत्तर प्रदेश में विधान मण्डल की स्थापना और विकास का प्रारंभिक केंद्र होने का भी गौरव प्राप्त है। उत्तर प्रदेश में विधान मण्डल की स्थापना इंडियन कौंसिल एक्ट 1861 के प्राविधानों के अनुसार पांच जनवरी 1887 को हुई थी । उस समय राज्य का नाम नार्थ वेस्टर्न प्राविंसेज एंड अवध और सदन का नाम लेजिस्लेटिव कौंसिल फार द नार्थ वेस्टर्न प्राविंसेज एड अवध था । इसकी पहली बैठक शनिवार आठ जनवरी 1887 को प्रयागराज में थार्नहिल मेमोरियल हॉल (वर्तमान पब्लिक लाइब्रेरी भवन, चंद्रशेखर आजाद पार्क परिसर) में हुई थी । स्थापनाकालीन कौंसिल के नौ सदस्य थे , जिसमें चार भारतीय थे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *