March 5, 2021

नए जीएम का मिशन रफ्तार पर फोकस, ट्रेनों की स्पीड 160 करने वाले काम की बढ़े गति


अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज
Updated Tue, 05 Jan 2021 12:03 AM IST

prayagraj news : एनसीआर रेलवे के महाप्रबंध वीके त्रिपाठी।
– फोटो : prayagraj

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

पूर्वोत्तर रेलवे के साथ उत्तर मध्य रेलवे में महाप्रबंधक का अतिरिक्त पदभार ग्रहण करने के बाद वीके त्रिपाठी सोमवार को प्रयागराज पहुंचे। यहां अफसरों से मुलाकात के बाद उन्होंने एनसीआर में सुरक्षा एवं अन्य प्राथमिकता वाले कार्यों की समीक्षा की। नए जीएम का मिशन रफ्तार पर भी फोकस रहा। उन्होंने कहा कि एनसीआर से गुजरने वाले दिल्ली-हावड़ा और दिल्ली-मुंबई रूट पर ट्रेनों की अधिकतम स्पीड 160 किमी प्रतिघंटा करने के काम की रफ्तार बढ़ाई जाए।

प्रयागराज में वर्ष 2014-16 में डीआरएम रह चुके नए जीएम ने कहा कि ट्रेन परिचालन में सुरक्षा पहली और प्रमुख प्राथमिकता रहेगी। ट्रेनों की अधिकतम स्पीड 160 किमी प्रति घंटा करने को लेकर उन्होंने  ट्रैफिक ब्लॉक की योजना बनाने में व्यापक और एकीकृत दृष्टिकोण की आवश्यकता पर जोर दिया। ताकि इस महत्वपूर्ण कार्य के निष्पादन के दौरान ट्रेन परिचालन पर न्यूनतम प्रभाव पड़े। स्टेशनों और ट्रेनों में दिव्यांगजन के लिए जरूरी सुविधाओं, लोडिंग में वृद्धि और यात्री सुविधाओं में सुधार संबंधित अन्य महत्वपूर्ण कार्यों की भी समीक्षा की।

कहा कि माल ढुलाई और यात्री राजस्व में वृद्धि करने के हर संभव प्रयास के अतिरिक्त हमें कार्य के हर क्षेत्र में व्यय की समीक्षा करने की भी आवश्यकता है। मानव संसाधन विकास के मोर्चे पर जीएम ने निर्देश दिया कि सभी पदोन्नति, विभागीय चयन आदि को पहले से निर्धारित अनुसूची के अनुसार समयबद्ध तरीके से पूरा किया जाना चाहिए। माघ मेले को लेकर कहा कि मेले के दौरान तीर्थयात्रियों के सुरक्षित, आरामदायक और कुशल परिवहन  के लिए सभी तैयारी समय पर पूरी की जानी चाहिए। उन्होंने माघ मेला कार्यों के लिए एक विशिष्ट समीक्षा बैठक आयोजित करने का निर्देश दिया।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed