February 26, 2021

उत्तर प्रदेश के तीन भागों में बंटेगा 27 फीसदी आरक्षण- मंत्री अनिल राजभर


प्रदेश कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर।
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

प्रदेश सरकार के मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री अनिल राजभर ने मंगलवार को राजभर युवा संवाद के गंगा बहुद्देश्यीय सभागार में लोगों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में पिछड़े वर्ग को मिलने वाले 27 फीसदी आरक्षण में से 67.56 फीसदी का लाभ एक जाति विशेष को मिला लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। जल्द ही 27 फीसदी आरक्षण को पिछड़ा, अति पिछड़ा और अत्यंत पिछड़ा तीन भागों में बांटने का काम सरकार करने जा रही है।
उन्होंने कहा कि समय की कीमत समझें, धैर्य बनाकर रखें। मैं आपसे केवल पांच साल मांग रहा हूं। एक बार एकजुट होकर हमारे साथ खड़े होकर देखिए, आप जो चाहेंगे, वही होगा। बसपा को 22 वर्ष, ओम प्रकाश को 18 वर्ष से आप मत दे रहे हैं, लेकिन सबने अपना खजाना भरने का काम किया है। किसी ने समाज की कोई चिंता नहीं की। उन्होंने कहा कि हमारा इतिहास रहा है।

एक हजार तीस ईस्वी के बाद 175 वर्षों तक भारत में कोई आक्रमण नहीं हुआ। इसका कारण था कि भारत में उस समय महाराजा सुहेलदेव राजभर का शासन था। उस वीरता को पीएम मोदी ने पहचाना। उन्होंने कहा कि इस बार बसंत पंचमी के दिन बहराइच में प्रधानमंत्री को बुलाकर महाराजा सुहेलदेव को श्रद्धाजंलि देने का कार्य कराने जा रहा हूं।

भारत के गृह मंत्री अमित शाह ने मूर्ति बनवाई है। राज्यसभा सदस्य सकलदीप राजभर ने कहा कि राजभर समाज के भावना से अन्य पार्टी खेल रही है। इस मौके पर भाजपा के जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू, मदन राजभर, मिठू राजभर, सोनू कुमार, शिवमुनी राजभर, काशीनाथ राजभर, जय प्रकाश राजभर, डा. सतीश राजभर, अजय राजभर, विशाल राजभर, जेपी राजभर आशिष प्रताप सिंह आदि रहे।

पदयात्रा के दौरान मंत्री ने सुनी जनसमस्या
खेल राज्यमंत्री उपेंद्र तिवारी ने सोमवार को अराजी मुत्तवक्खीपुर, पचखोरा, पिपरा, धनौती धूरा, धनौती सलेम, नूरपुर और तपनी गांव पहुंचे। पदयात्रा के दौरान उन्होंने घर-घर जाकर जनता की समस्याओं की जानकारी ली। मौके से ही संबंधित विभाग के अधिकारियों को त्वरित समाधान के लिए निर्देशित किया। इस दौरान पूर्व शिक्षक श्रीकांत पाण्डेय के निधन पर जनऊपुर गांव पहुंचकर परिजनों से मिले और परिवार के लोगों को सांत्वना दिया।

इसी दौरान ग्रामीणों ने सुखपुरा-रतसर नहर मार्ग के बदहाल स्थित के बारे में पूछा तो उन्होनें ग्रामीणों को बताया कि वर्षों से उपेक्षित इस सड़क का कायाकल्प होने जा रहा है।  तीन माह के अन्दर आठ किमी के इस सड़क का निर्माण पीडब्लूडी विभाग से 25.50 करोड़ की लागत से होगा। इस अवसर पर जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ ही उपेंद्र पाण्डेय, कृपाशंकर तिवारी, टुनटुन उपाध्याय, पिन्टू पाठक, विजय गुप्ता, डा0 मदन राजभर, राजेन्द्र तिवारी आदि उपस्थित रहे।

प्रदेश सरकार के मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री अनिल राजभर ने मंगलवार को राजभर युवा संवाद के गंगा बहुद्देश्यीय सभागार में लोगों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में पिछड़े वर्ग को मिलने वाले 27 फीसदी आरक्षण में से 67.56 फीसदी का लाभ एक जाति विशेष को मिला लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। जल्द ही 27 फीसदी आरक्षण को पिछड़ा, अति पिछड़ा और अत्यंत पिछड़ा तीन भागों में बांटने का काम सरकार करने जा रही है।

उन्होंने कहा कि समय की कीमत समझें, धैर्य बनाकर रखें। मैं आपसे केवल पांच साल मांग रहा हूं। एक बार एकजुट होकर हमारे साथ खड़े होकर देखिए, आप जो चाहेंगे, वही होगा। बसपा को 22 वर्ष, ओम प्रकाश को 18 वर्ष से आप मत दे रहे हैं, लेकिन सबने अपना खजाना भरने का काम किया है। किसी ने समाज की कोई चिंता नहीं की। उन्होंने कहा कि हमारा इतिहास रहा है।

एक हजार तीस ईस्वी के बाद 175 वर्षों तक भारत में कोई आक्रमण नहीं हुआ। इसका कारण था कि भारत में उस समय महाराजा सुहेलदेव राजभर का शासन था। उस वीरता को पीएम मोदी ने पहचाना। उन्होंने कहा कि इस बार बसंत पंचमी के दिन बहराइच में प्रधानमंत्री को बुलाकर महाराजा सुहेलदेव को श्रद्धाजंलि देने का कार्य कराने जा रहा हूं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed