February 28, 2021

हलवारा एयरफोर्स स्टेशन में तैनात डीजल मैकेनिक निकला जासूस, आईएसआई को भेज रहा था जानकारी


संवाद न्यूज एजेंसी, हलवारा (लुधियाना)
Updated Wed, 30 Dec 2020 07:22 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

उत्तर भारत के प्रमुख एयरफोर्स स्टेशन हलवारा में तैनात डीजल मैकेनिक अपने दो साथियों के साथ मिलकर पाकिस्तान में बैठे आईएसआई एजेंट को खुफिया जानकारी मुहैया करवा रहा था। थाना सुधार पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 124ए, 153ए, 120 बी, अनलॉफुल एक्टिविटी एक्ट 1967 व सीक्रेट एक्ट 1923 के तहत मामला दर्ज किया है। 

पुलिस ने डीजल मैकेनिक रामपाल सिंह पुत्र दुल्ला सिंह निवासी गांव टूसे व सुखकरण सिंह उर्फ सुक्खा बाबा गांव टूसे को गिरफ्तार कर लिया है। तीसरे साथी साबिर अली पुत्र शमशाद अली निवासी लाल पीपल थाना कालाअंब, तहसील नाहन जिला सिरमौर हिमाचल प्रदेश की तलाश की जा रही है। 

जानकारी के अनुसार 25 दिसंबर 2020 को थाना सुधार की पुलिस ने गांव टूसे निवासी सुखकरण सिंह उर्फ सुक्खा बाबा को पिस्तौल व एक कारतूस के साथ काबू किया था। इस मामले में सुक्खा बाबा चार जनवरी 2021 तक पुलिस रिमांड पर है। आरोपी सुक्खा लंबे समय से खालिस्तानी कट्टरपंथियों के साथ जुड़ा रहा है।

डेरा सिरसा विवाद के समय भी यह काफी सक्रिय रहा है। सीआईए स्टाफ ने उससे गहनता से पूछताछ की। पूछताछ में पाकिस्तान में बैठे आकाओं का खुलासा हुआ। साथ ही एयरफोर्स हलवारा में बतौर डीजल मैकेनिक तैनात रामपाल सिंह और हिमाचल निवासी साबिर अली के नाम सामने आ गए। आरोपी रामपाल आईएसआई को वायुसेना की जानकारी मुहैया करवा रहा था। उसके पिता भी हलवारा एयरफोर्स स्टेशन पर एमईएस ब्रांच में तैनात थे, अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं। 

29 दिसंबर की देर शाम को थाना सुधार पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्जकर रामपाल सिंह को गिरफ्तार कर लिया। उससे पूछताछ में खुलासा हुआ कि वह एयरफोर्स की खुफिया जानकारी पाकिस्तान में बैठे आईएसआई एजेंट अदनान को मुहैया करवा रहा था। हलवारा एयरफोर्स की सूचनाएं बाहर जाने की खबर के बाद केंद्रीय खुफिया एजेंसियों के आला अधिकारी जगरावं में डेरा जमा चुके है। सीआईए स्टाफ जगरावं में खुफिया एजेंसी के अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं।

सूत्रों के अनुसार रामपाल सिंह ने माना है कि उसने एयरफोर्स से संबंधित कई जानकारी और फोटो आईएसआई एजेंट को भेजी हैं। खालिस्तानी संगठनों के संपर्क में होने के चलते वह और लोगों को इसके साथ जोड़ने का काम कर रहा था। ताकि पंजाब में दोबारा नेटवर्क को तैयार किया जा सके। इसके लिए उसे फंड मिलने की जानकारी भी आ रही है। फिलहाल इस मामले पर अधिकारी चुप्पी साधे हुए है। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने साबिर अली को भी काबू कर लिया है लेकिन कोई अधिकारी इसकी पुष्टि नहीं कर रहा है।

उत्तर भारत के प्रमुख एयरफोर्स स्टेशन हलवारा में तैनात डीजल मैकेनिक अपने दो साथियों के साथ मिलकर पाकिस्तान में बैठे आईएसआई एजेंट को खुफिया जानकारी मुहैया करवा रहा था। थाना सुधार पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 124ए, 153ए, 120 बी, अनलॉफुल एक्टिविटी एक्ट 1967 व सीक्रेट एक्ट 1923 के तहत मामला दर्ज किया है। 

पुलिस ने डीजल मैकेनिक रामपाल सिंह पुत्र दुल्ला सिंह निवासी गांव टूसे व सुखकरण सिंह उर्फ सुक्खा बाबा गांव टूसे को गिरफ्तार कर लिया है। तीसरे साथी साबिर अली पुत्र शमशाद अली निवासी लाल पीपल थाना कालाअंब, तहसील नाहन जिला सिरमौर हिमाचल प्रदेश की तलाश की जा रही है। 

जानकारी के अनुसार 25 दिसंबर 2020 को थाना सुधार की पुलिस ने गांव टूसे निवासी सुखकरण सिंह उर्फ सुक्खा बाबा को पिस्तौल व एक कारतूस के साथ काबू किया था। इस मामले में सुक्खा बाबा चार जनवरी 2021 तक पुलिस रिमांड पर है। आरोपी सुक्खा लंबे समय से खालिस्तानी कट्टरपंथियों के साथ जुड़ा रहा है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *