March 3, 2021

चंडीगढ़ : सांसद किरण खेर की सिफारिश भी नहीं आई काम, मुकेश आनंद को नहीं मिला सेवा विस्तार


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़
Updated Tue, 29 Dec 2020 10:45 PM IST

ट्रिब्यून चौक।
– फोटो : फाइल फोटो

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

चंडीगढ़ प्रशासन ने अधीक्षण अभियंता सीबी ओझा को पदोन्नति देकर चंडीगढ़ प्रशासन का अगला मुख्य अभियंता (चीफ इंजीनियर) बना दिया है। बता दें कि वर्तमान मुख्य अभियंता मुकेश आनंद के सेवा विस्तार के लिए शहर की सांसद किरण खेर ने सिफारिश करते हुए चंडीगढ़ प्रशासन को एक पत्र लिखा था। मुकेश आनंद को सेवा विस्तार नहीं मिलने से अब यह साफ हो गया है कि सांसद की सिफारिश को प्रशासन ने नामंजूर कर दिया है। 

सीबी ओझा एक जनवरी को मुख्य अभियंता पद संभाल लेंगे। वहीं, एक्सईन संजय अरोड़ा को भी पदोन्नति देकर अधीक्षण अभियंता बनाया गया है। सांसद किरण खेर की ओर से पूरा प्रयास किया गया था कि मुकेश आनंद को बतौर मुख्य अभियंता सेवा विस्तार दिया जाए। उन्होंने ट्रिब्यून फ्लाईओवर का हवाला देकर उन्हें सेवा विस्तार देने की बात भी प्रशासन से कही थी। 

खेर ने कहा था कि ट्रिब्यून फ्लाईओवर उनका ड्रीम प्रोजेक्ट है और इसके लिए मुकेश आनंद ने बहुत मेहनत की है। उन्हें इस प्रोजेक्ट की सभी बारीकियां मालूम हैं, इसलिए उन्हें तीन महीने का सेवा विस्तार दिया जाए। हालांकि पंजाब सर्विस रूल्स के नए नियमों के मुताबिक, सेवानिवृत्ति के बाद सेवा विस्तार नहीं दिया जा सकता है इसलिए यह माना जा रहा था कि मुकेश आनंद को किरण खेर के समर्थन के बाद भी सेवा विस्तार नहीं मिलेगा और आखिरकार वही हुआ भी। गौरतलब है कि चंडीगढ़ प्रशासन कर्मचारियों की सेवाओं से जुड़े नियमों के लिए पंजाब सर्विस रूल्स को फॉलो करता है।

कांग्रेस-आप समेत विभिन्न संस्थाओं ने खेर के पत्र का किया था विरोध
सांसद किरण खेर द्वारा मुख्य अभियंता मुकेश आनंद के समर्थन में पत्र लिखे जाने के बाद से उनका शहर में चौतरफा विरोध हुआ था। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने भी खेर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। कांग्रेस ने तो विरोध प्रदर्शन की धमकी तक दे डाली थी।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक प्रेम गर्ग ने प्रशासक के सलाहकार मनोज परिदा को पत्र लिखकर मुकेश आनंद को सेवा विस्तार नहीं देने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि राजनीतिक कारणों से किसी एक अधिकारी को अनुचित लाभ देना अनैतिक है। वहीं, कांग्रेस पार्षद सतीश कैंथ ने यह एलान किया था कि अगर प्रशासन मुकेश आनंद को सेवा विस्तार देगा तो वह इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेंगे।

चंडीगढ़ प्रशासन ने अधीक्षण अभियंता सीबी ओझा को पदोन्नति देकर चंडीगढ़ प्रशासन का अगला मुख्य अभियंता (चीफ इंजीनियर) बना दिया है। बता दें कि वर्तमान मुख्य अभियंता मुकेश आनंद के सेवा विस्तार के लिए शहर की सांसद किरण खेर ने सिफारिश करते हुए चंडीगढ़ प्रशासन को एक पत्र लिखा था। मुकेश आनंद को सेवा विस्तार नहीं मिलने से अब यह साफ हो गया है कि सांसद की सिफारिश को प्रशासन ने नामंजूर कर दिया है। 

सीबी ओझा एक जनवरी को मुख्य अभियंता पद संभाल लेंगे। वहीं, एक्सईन संजय अरोड़ा को भी पदोन्नति देकर अधीक्षण अभियंता बनाया गया है। सांसद किरण खेर की ओर से पूरा प्रयास किया गया था कि मुकेश आनंद को बतौर मुख्य अभियंता सेवा विस्तार दिया जाए। उन्होंने ट्रिब्यून फ्लाईओवर का हवाला देकर उन्हें सेवा विस्तार देने की बात भी प्रशासन से कही थी। 

खेर ने कहा था कि ट्रिब्यून फ्लाईओवर उनका ड्रीम प्रोजेक्ट है और इसके लिए मुकेश आनंद ने बहुत मेहनत की है। उन्हें इस प्रोजेक्ट की सभी बारीकियां मालूम हैं, इसलिए उन्हें तीन महीने का सेवा विस्तार दिया जाए। हालांकि पंजाब सर्विस रूल्स के नए नियमों के मुताबिक, सेवानिवृत्ति के बाद सेवा विस्तार नहीं दिया जा सकता है इसलिए यह माना जा रहा था कि मुकेश आनंद को किरण खेर के समर्थन के बाद भी सेवा विस्तार नहीं मिलेगा और आखिरकार वही हुआ भी। गौरतलब है कि चंडीगढ़ प्रशासन कर्मचारियों की सेवाओं से जुड़े नियमों के लिए पंजाब सर्विस रूल्स को फॉलो करता है।

कांग्रेस-आप समेत विभिन्न संस्थाओं ने खेर के पत्र का किया था विरोध
सांसद किरण खेर द्वारा मुख्य अभियंता मुकेश आनंद के समर्थन में पत्र लिखे जाने के बाद से उनका शहर में चौतरफा विरोध हुआ था। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने भी खेर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। कांग्रेस ने तो विरोध प्रदर्शन की धमकी तक दे डाली थी।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक प्रेम गर्ग ने प्रशासक के सलाहकार मनोज परिदा को पत्र लिखकर मुकेश आनंद को सेवा विस्तार नहीं देने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि राजनीतिक कारणों से किसी एक अधिकारी को अनुचित लाभ देना अनैतिक है। वहीं, कांग्रेस पार्षद सतीश कैंथ ने यह एलान किया था कि अगर प्रशासन मुकेश आनंद को सेवा विस्तार देगा तो वह इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेंगे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *