February 24, 2021

नए साल का जश्र मनाने के लिए रच दी लूट की झूठी कहानी, पुलिस ने सच उगलवाया, दो गिरफ्तार


अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली
Updated Fri, 01 Jan 2021 09:22 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

जामिया नगर में रहने वाला फैज अहमद सिद्दकी नए वर्ष का जश्र दोस्त के साथ शिमला में मनाना चहाता था। मगर शिमला में जश्र मनाने के लिए पैसे नहीं थे। ऐसे में उसने लूट की झूठी कहानी रच दी और सगे भाई के पैसे लेकर शिमला जाना चहाता था। सरिता विहार थाना पुलिस के सामने आरोपी की चालाकी ज्यादा दिन नहीं चली और उसे उसके दोस्त जामिया नगर निवासी मो. सादिक के साथ गिरफ्तार कर लिया। इनके कब्जे से 65 हजार रुपये बरामद किए गए हैं।

दक्षिण जिला डीसीपी आरपी मीणा के अनुसार सरिता विहार थाना पुलिस को 30 दिसंबर को सूचना मिली थी कि स्कूटी व मोटरसाइकिल पर सवार चार युवकों ने मदर डेयरी, जनता फ्लेट्स के पास चाकू की नोंक पर डेढ़ लाख रुपये लूट लिए हैं। सूचना के बाद सरिता विहार थानाध्यक्ष अनंत कुमार गुंजन एएसआई वीरदास और हवलदार राजेश व सुभाष के साथ तुरंत मौके पर पहुंचे। मौके पर फैज अहमद सिद्दकी(22) अपने भाई के साथ मिला।

उसने बताया कि वह मदर डेयरी का दूध दुकानों पर सप्लाई करते हैं। हर रोज की तरह वह बुधवार सुबह भी दूध सप्लाई कर रहे थे। उसका भाई नाला पॉकेट-11 जसौला के पास पहुंचे तो उसका भाई दूध सप्लाई करने चला गया और वह लघुशंका के लिए जंगल की ओर चला गया। तभी चार बदमाश आए और सप्लाई का डेढ़ लाख रुपये लूटकर ले गए।

पूछताछ में दोनों भाईयों का बयान में विरोधाभास मिला। मोबाइल सर्विलांस से पता लगा कि मो. सादिक के संपर्क में था। घटना के समय मो.सादिक मौके पर ही था। कड़ाई से पूछताछ में पूछताछ में मो. फैज ने सच उगल दिया। वह नए वर्ष का जश्र शिमला में मनाना चहाता था। इसलिए उसने दोस्त मो.सादिक के साथ भाई के पैसों को हड़पने के लिए लूट की साजिश रची थी। उसने मो. सादिक को मौके पर बुलाकर पैसे उसे दे दिए थे और फिर पैसे लूटने की कॉल कर दी थी।

जामिया नगर में रहने वाला फैज अहमद सिद्दकी नए वर्ष का जश्र दोस्त के साथ शिमला में मनाना चहाता था। मगर शिमला में जश्र मनाने के लिए पैसे नहीं थे। ऐसे में उसने लूट की झूठी कहानी रच दी और सगे भाई के पैसे लेकर शिमला जाना चहाता था। सरिता विहार थाना पुलिस के सामने आरोपी की चालाकी ज्यादा दिन नहीं चली और उसे उसके दोस्त जामिया नगर निवासी मो. सादिक के साथ गिरफ्तार कर लिया। इनके कब्जे से 65 हजार रुपये बरामद किए गए हैं।

दक्षिण जिला डीसीपी आरपी मीणा के अनुसार सरिता विहार थाना पुलिस को 30 दिसंबर को सूचना मिली थी कि स्कूटी व मोटरसाइकिल पर सवार चार युवकों ने मदर डेयरी, जनता फ्लेट्स के पास चाकू की नोंक पर डेढ़ लाख रुपये लूट लिए हैं। सूचना के बाद सरिता विहार थानाध्यक्ष अनंत कुमार गुंजन एएसआई वीरदास और हवलदार राजेश व सुभाष के साथ तुरंत मौके पर पहुंचे। मौके पर फैज अहमद सिद्दकी(22) अपने भाई के साथ मिला।

उसने बताया कि वह मदर डेयरी का दूध दुकानों पर सप्लाई करते हैं। हर रोज की तरह वह बुधवार सुबह भी दूध सप्लाई कर रहे थे। उसका भाई नाला पॉकेट-11 जसौला के पास पहुंचे तो उसका भाई दूध सप्लाई करने चला गया और वह लघुशंका के लिए जंगल की ओर चला गया। तभी चार बदमाश आए और सप्लाई का डेढ़ लाख रुपये लूटकर ले गए।

पूछताछ में दोनों भाईयों का बयान में विरोधाभास मिला। मोबाइल सर्विलांस से पता लगा कि मो. सादिक के संपर्क में था। घटना के समय मो.सादिक मौके पर ही था। कड़ाई से पूछताछ में पूछताछ में मो. फैज ने सच उगल दिया। वह नए वर्ष का जश्र शिमला में मनाना चहाता था। इसलिए उसने दोस्त मो.सादिक के साथ भाई के पैसों को हड़पने के लिए लूट की साजिश रची थी। उसने मो. सादिक को मौके पर बुलाकर पैसे उसे दे दिए थे और फिर पैसे लूटने की कॉल कर दी थी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *