March 1, 2021

दिल्ली-NCR में कड़ाके की ठंड के साथ छाया घना कोहरा, विजिबिलिटी बेहद कम, कई फ्लाइट्स रद्द


दिल्ली-एनसीआर में कड़ाके की ठंड के साथ छाया कोहरा
– फोटो : एएनआई

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

दिल्ली-एनसीआर में कड़ाके की ठंड के साथ आज घना कोहरा छाया हुआ है। ठंड के साथ हो रहे कोहरे ने लोगों की परेशानियों और बढ़ गईं हैं। दिल्ली-एनसीआर में इतना कोहरा है कि कुछ दिखाई नहीं दे रहा है। विजिबिलिटी काफी कम है। सड़क पर वाहन रेंग रहे हैं। वहीं, मौसम विभाग का कहना है कि आज से शीतलहर का प्रकोप और बढ़ जाएगा। 

राजधानी दिल्ली के द्वारका और धौला कुआं में दृश्यता यानी विजिबिलिटी काफी कम है। विजिबिलिटी बेहद कम होने के चलते सड़कों पर गाड़ियों की लाइट जलाने पर भी कुछ दिखाई नहीं दे रहा है। ऐसे में वाहन चालकों को गाड़ी चलाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।  

कोहरे का असर रेल यातायात और फ्लाइट्स पर भी पड़ा है, कई फ्लाइट्स रद्द हो गई हैं। दिल्ली हवाई अड्डे से कम से कम चार उड़ानों में देरी हो रही है। इसके अलावा कोहरे के कारण कम से कम एक उड़ान रद्द है। वहीं, रेल संचालन भी प्रभावित हो गया है। 

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली के पालम में आज सुबह 5:30 बजे 9.8 डिग्री तापमान दर्ज किया गया, जो अगले 24 घंटों के दौरान 0.2 डिग्री तक गिरने की संभावना है। सफदरजंग में 8.6 डिग्री तापमान दर्ज किया गया, जो अगले 24 घंटों के दौरान 1.2 डिग्री बढ़ने की संभावना है।हालांकि भारतीय मौसम विभाग ने कहा है कि 18 जनवरी की सुबह तक उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में न्यूनतम तापमान में 3 से 4 डिग्री की वृद्धि होने की संभावना है।  

कोहरे के साथ प्रदूषण की भी मार
वहीं, दूसरी ओर दिल्ली-एसीआर में घने कोहरे के साथ प्रदूषण की भी मार पड़ रही है। देश की राजधानी दिल्ली में आज सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स(एक्यूआई) 492 मापा गया है।
 

 

 
मौसम विभाग के मुताबिक आज से एक बार फिर से शीत लहर का प्रकोप बढ़ेगा और पारा चार डिग्री तक पहुंच जाएगा। 18 जनवरी के बाद से सर्दी से कुछ राहत मिलने की संभावना है। हालांकि बीते कुछ दिनों से कड़ाके की सर्दी को झेल रहे दिल्लीवालों को शुक्रवार को शीत लहर से मामूली राहत मिली। 

शुक्रवार को आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहने के कारण दिल्ली का न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 6.7 डिग्री सेल्सियस हो गया। वहीं अधिकतम तापमान 20.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कोहरा छाए रहने केकारण सफदरजंग में दृश्यता घट कर 201 मीटर और पालम में 300 मीटर रह गई। 

आईएमडी के अनुसार बहुत घना कोहरा होने पर दृश्यता 0 से 50 मीटर के बीच होती है। घने कोहरे के मामले मे दृश्यता 51 से 200 मीटर के बीच, मध्यम स्तर के कोहरे में दृश्यता 201 से 500 मीटर के बीच और हल्का कोहरे में दृश्यता 501 से 1,000 मीटर के बीच रहती है। 
 

दिल्ली-एनसीआर में कड़ाके की ठंड के साथ आज घना कोहरा छाया हुआ है। ठंड के साथ हो रहे कोहरे ने लोगों की परेशानियों और बढ़ गईं हैं। दिल्ली-एनसीआर में इतना कोहरा है कि कुछ दिखाई नहीं दे रहा है। विजिबिलिटी काफी कम है। सड़क पर वाहन रेंग रहे हैं। वहीं, मौसम विभाग का कहना है कि आज से शीतलहर का प्रकोप और बढ़ जाएगा। 

राजधानी दिल्ली के द्वारका और धौला कुआं में दृश्यता यानी विजिबिलिटी काफी कम है। विजिबिलिटी बेहद कम होने के चलते सड़कों पर गाड़ियों की लाइट जलाने पर भी कुछ दिखाई नहीं दे रहा है। ऐसे में वाहन चालकों को गाड़ी चलाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।  

कोहरे का असर रेल यातायात और फ्लाइट्स पर भी पड़ा है, कई फ्लाइट्स रद्द हो गई हैं। दिल्ली हवाई अड्डे से कम से कम चार उड़ानों में देरी हो रही है। इसके अलावा कोहरे के कारण कम से कम एक उड़ान रद्द है। वहीं, रेल संचालन भी प्रभावित हो गया है। 

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली के पालम में आज सुबह 5:30 बजे 9.8 डिग्री तापमान दर्ज किया गया, जो अगले 24 घंटों के दौरान 0.2 डिग्री तक गिरने की संभावना है। सफदरजंग में 8.6 डिग्री तापमान दर्ज किया गया, जो अगले 24 घंटों के दौरान 1.2 डिग्री बढ़ने की संभावना है।हालांकि भारतीय मौसम विभाग ने कहा है कि 18 जनवरी की सुबह तक उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में न्यूनतम तापमान में 3 से 4 डिग्री की वृद्धि होने की संभावना है।  

कोहरे के साथ प्रदूषण की भी मार

वहीं, दूसरी ओर दिल्ली-एसीआर में घने कोहरे के साथ प्रदूषण की भी मार पड़ रही है। देश की राजधानी दिल्ली में आज सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स(एक्यूआई) 492 मापा गया है।

 

 

 


आगे पढ़ें

आज फिर बढ़ेगा शीत लहर का प्रकोप





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *