February 24, 2021

दिल्लीः एक हजार से ज्यादा बूथ हो रहे तैयार, पहले चरण में 51 लाख लोगों को लगेगा कोरोना का टीका


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Thu, 31 Dec 2020 09:22 PM IST

श्रीनिवासपुरी में बनाया गया पहला कोरोना टीकाकरण बूथ
– फोटो : amar ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

राजधानी के लोगों को कोरोना का टीका लगाने के लिए एक हजार से ज्यादा बूथ तैयार किए जा रहे हैं। इनमें से पहला बूथ दक्षिणी दिल्ली के श्रीनिवासपुरी इलाके में बन गया है। दिल्ली में हर बूथ पर एक दिन में 100 लोगों को टीका लगाया जाएगा। टीकाकरण कार्यक्रम शुरू होने के बाद पहले चरण में 51 लाख लोगों को वैक्सीन की डोज दी जाएगी।   

श्रीनिवासपुरी में तैयार हुए पहले टीकाकरण बूथ में तीन कमरे की व्यवस्था की गई है। पहला कमर वेटिंग रूम होगा। वेटिंग रूम में वैक्सीन लगवाने वाले लोगों को पंजीकरण होगा। यहां आने वाले व्यक्ति की आईडी के मिलान के लिए अलग-अलग डेस्क के साथ ऑफिसर तैनात किए गए हैं। 

दूसरा कमरा वह होगा जहां वैक्सीन लगाई जाएगी और तीसरे कमरे में वैक्सीन देने के बाद व्यक्ति को कुछ समय के लिए वहां बिठाकर यह देखा जाएगा कि कहीं उसे कोई दुष्प्रभाव तो नहीं दिख रहे हैं। सभी टीकाकरण बूथ इसी तर्ज पर तैयार होंगे। वैक्सीन भंडारण के लिए राजीव गांधी सुपर स्पेशयलिटी अस्पताल में सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है।

दिल्ली में पहले चरण में कुल 51 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। स्वास्थ्य कर्मचारी, फ्रंटलाइन वर्कर के अलावा 50 साल या इससे अधिक आयु वाले लोगों और पहले से दूसरी बीमारियों से पीड़ित ऐसे लोगों को भी टीका दिया जाएगा। 

इसके लिए आरोग्य सेतु एप की मदद के अलावा स्वास्थ्य विभाग भी अपने स्तर पर जाकर सर्वे करेगा। इन लोगों की पहचान के बाद इन्हें कोविन एप पर जाकर पंजीकरण कराना होगा। यहां लोगों की पहचान सम्बंधी जानकारी, आयु,  मेडिकल हिस्ट्री आदि जानकारी भी दर्ज की जाएगी। कोविन एप पर पंजीकरण के बाद लोगों को एसएमएस के जरिए सूचना दे दी जाएगी कि उन्हें वैक्सीन लगवाने के लिए किस बूथ पर और कब आना है।

राजधानी के लोगों को कोरोना का टीका लगाने के लिए एक हजार से ज्यादा बूथ तैयार किए जा रहे हैं। इनमें से पहला बूथ दक्षिणी दिल्ली के श्रीनिवासपुरी इलाके में बन गया है। दिल्ली में हर बूथ पर एक दिन में 100 लोगों को टीका लगाया जाएगा। टीकाकरण कार्यक्रम शुरू होने के बाद पहले चरण में 51 लाख लोगों को वैक्सीन की डोज दी जाएगी।   

श्रीनिवासपुरी में तैयार हुए पहले टीकाकरण बूथ में तीन कमरे की व्यवस्था की गई है। पहला कमर वेटिंग रूम होगा। वेटिंग रूम में वैक्सीन लगवाने वाले लोगों को पंजीकरण होगा। यहां आने वाले व्यक्ति की आईडी के मिलान के लिए अलग-अलग डेस्क के साथ ऑफिसर तैनात किए गए हैं। 

दूसरा कमरा वह होगा जहां वैक्सीन लगाई जाएगी और तीसरे कमरे में वैक्सीन देने के बाद व्यक्ति को कुछ समय के लिए वहां बिठाकर यह देखा जाएगा कि कहीं उसे कोई दुष्प्रभाव तो नहीं दिख रहे हैं। सभी टीकाकरण बूथ इसी तर्ज पर तैयार होंगे। वैक्सीन भंडारण के लिए राजीव गांधी सुपर स्पेशयलिटी अस्पताल में सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है।

दिल्ली में पहले चरण में कुल 51 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। स्वास्थ्य कर्मचारी, फ्रंटलाइन वर्कर के अलावा 50 साल या इससे अधिक आयु वाले लोगों और पहले से दूसरी बीमारियों से पीड़ित ऐसे लोगों को भी टीका दिया जाएगा। 

इसके लिए आरोग्य सेतु एप की मदद के अलावा स्वास्थ्य विभाग भी अपने स्तर पर जाकर सर्वे करेगा। इन लोगों की पहचान के बाद इन्हें कोविन एप पर जाकर पंजीकरण कराना होगा। यहां लोगों की पहचान सम्बंधी जानकारी, आयु,  मेडिकल हिस्ट्री आदि जानकारी भी दर्ज की जाएगी। कोविन एप पर पंजीकरण के बाद लोगों को एसएमएस के जरिए सूचना दे दी जाएगी कि उन्हें वैक्सीन लगवाने के लिए किस बूथ पर और कब आना है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed