March 7, 2021

कोरोना पर वारः दिल्ली में टीकाकरण का अभ्यास आज से, तीन जिलों में 3 केंद्रों पर तैयारी


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

देशभर में कोरोना टीकाकरण से पहले शनिवार से पूर्वाभ्यास किया जाएगा। दिल्ली के तीन जिलों में भी पूर्वाभ्यास किया जाएगा। इसकी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।  शाहदरा, सेंट्रल और दक्षिणी पश्चिमी जिला प्रशासन को इसकी जिम्मेदारी मिली है। शाहदरा में जीटीबी अस्पताल, सेंट्रल में दरियागंज स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और दक्षिणी पश्चिमी जिले के वेंक्टेश्वर अस्पताल में पूर्वाभ्यास किया जाएगा। हर केंद्र पर 25-25 स्वास्थ्य कर्मचारियों का चयन किया गया है। हालांकि, इस दौरान किसी को भी टीका नहीं लगेगा। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन आज दरिया गंज में इस अभियान में मौजूद रहेंगे। 

शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने रिहर्सल से जुड़ी तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक की। बैठक में शामिल शाहदरा जिलाधिकारी सचिन कुमार ने बताया कि करीब चार सौ कर्मचारियों को टीकाकरण के लिए तैनात किया है। जीटीबी अस्पताल में 2700 स्वास्थ्य कर्मचारी हैं, वहीं उनके जिले में 13 ऐसी जगह हैं जहां टीका लगाया जाएगा। 

ठीक इसी तरह सेंट्रल जिलाधिकारी गोपीकृष्णन ने बताया कि उनके जिले में 70 बूथ बनाए गए हैं और करीब पांच लाख लोगों की सूची तैयार है जिन्हें सबसे पहले टीका देना है। महज पांच दिन में ही जिला प्रशासन इन लोगों को टीका देने की क्षमता रखता है। वहीं दक्षिणी पश्चिमी जिला प्रशासन के मुताबिक उनके यहां सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। 

दिल्ली में 1994 में पल्स पोलियो अभियान का उल्लेख करते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि टीकाकरण  अभियान विचार-विमर्श और जनता की भागीदारी पर आधारित है। इसलिए प्रासंगिक पक्षों, एनजीओ, सामाजिक संगठनों और अन्य पक्षों का सहयोग लिया जाना चाहिए। 

डॉ. हर्षवर्धन ने दिल्ली के अधिकारियों स्वास्थ्य सचिव अमित सिंगला, शाहदरा, मध्य और दक्षिण पश्चिम जिलों के जिला मजिस्ट्रेट और जिला टीकाकरण अधिकारियों से बात की। अधिकारियों ने बताया कि निर्धारित टीम को संबंधित कार्य के लिए पर्याप्त प्रशिक्षण दिया गया है और अधिकारी स्वयं प्रक्रिया के प्रत्येक पहलू पर स्वयं निगरानी रखेंगे ताकि खामियों की पहचान कर उनकी जानकारी दी जा सके। 

अधिकारियों ने केंद्रीय मंत्री को स्थल स्थापित करने, डेटा के मिलान और इसे अपडेट करने, टीका लगाने वालों का प्रशिक्षण, टीकाकरण के बाद विपरीत प्रभाव से निपटने की तैयारियों, कोल्ड चेन प्रबंधन स्थल की सुरक्षा और भंडारण स्थल समेत ड्राइ रन के लिए की गई तैयारियों से अवगत कराया। 

देशभर में कोरोना टीकाकरण से पहले शनिवार से पूर्वाभ्यास किया जाएगा। दिल्ली के तीन जिलों में भी पूर्वाभ्यास किया जाएगा। इसकी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।  शाहदरा, सेंट्रल और दक्षिणी पश्चिमी जिला प्रशासन को इसकी जिम्मेदारी मिली है। शाहदरा में जीटीबी अस्पताल, सेंट्रल में दरियागंज स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और दक्षिणी पश्चिमी जिले के वेंक्टेश्वर अस्पताल में पूर्वाभ्यास किया जाएगा। हर केंद्र पर 25-25 स्वास्थ्य कर्मचारियों का चयन किया गया है। हालांकि, इस दौरान किसी को भी टीका नहीं लगेगा। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन आज दरिया गंज में इस अभियान में मौजूद रहेंगे। 

शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने रिहर्सल से जुड़ी तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक की। बैठक में शामिल शाहदरा जिलाधिकारी सचिन कुमार ने बताया कि करीब चार सौ कर्मचारियों को टीकाकरण के लिए तैनात किया है। जीटीबी अस्पताल में 2700 स्वास्थ्य कर्मचारी हैं, वहीं उनके जिले में 13 ऐसी जगह हैं जहां टीका लगाया जाएगा। 

ठीक इसी तरह सेंट्रल जिलाधिकारी गोपीकृष्णन ने बताया कि उनके जिले में 70 बूथ बनाए गए हैं और करीब पांच लाख लोगों की सूची तैयार है जिन्हें सबसे पहले टीका देना है। महज पांच दिन में ही जिला प्रशासन इन लोगों को टीका देने की क्षमता रखता है। वहीं दक्षिणी पश्चिमी जिला प्रशासन के मुताबिक उनके यहां सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। 

दिल्ली में 1994 में पल्स पोलियो अभियान का उल्लेख करते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि टीकाकरण  अभियान विचार-विमर्श और जनता की भागीदारी पर आधारित है। इसलिए प्रासंगिक पक्षों, एनजीओ, सामाजिक संगठनों और अन्य पक्षों का सहयोग लिया जाना चाहिए। 

डॉ. हर्षवर्धन ने दिल्ली के अधिकारियों स्वास्थ्य सचिव अमित सिंगला, शाहदरा, मध्य और दक्षिण पश्चिम जिलों के जिला मजिस्ट्रेट और जिला टीकाकरण अधिकारियों से बात की। अधिकारियों ने बताया कि निर्धारित टीम को संबंधित कार्य के लिए पर्याप्त प्रशिक्षण दिया गया है और अधिकारी स्वयं प्रक्रिया के प्रत्येक पहलू पर स्वयं निगरानी रखेंगे ताकि खामियों की पहचान कर उनकी जानकारी दी जा सके। 

अधिकारियों ने केंद्रीय मंत्री को स्थल स्थापित करने, डेटा के मिलान और इसे अपडेट करने, टीका लगाने वालों का प्रशिक्षण, टीकाकरण के बाद विपरीत प्रभाव से निपटने की तैयारियों, कोल्ड चेन प्रबंधन स्थल की सुरक्षा और भंडारण स्थल समेत ड्राइ रन के लिए की गई तैयारियों से अवगत कराया। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed