March 6, 2021

बिहार: पटना में किसान आंदोलन के समर्थन में लेफ्ट संगठनों के प्रदर्शन पर लाठीचार्ज


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पटना
Updated Tue, 29 Dec 2020 02:23 PM IST

बिहार पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया
– फोटो : Social Media

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

दिल्ली की सीमाओं पर एक महीने से ज्यादा समय से किसान कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं। सभी विपक्षी पार्टियों ने इसे अपना समर्थन दिया है। इसी बीच मंगलवार को बिहार की राजधानी पटना में कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया।

जानकारी के अनुसार, पुलिस ने पटना में अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति और लेफ्ट पार्टियों की ओर से राजभवन तक निकाले जा रहे मार्च को रोक दिया। इसके बाद पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हो गई। फिर पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया।

गांधी मैदान से निकला जुलूस
कृषि कानूनों के विरोध में राज्य के विभिन्न कोने से आए किसानों ने पटना की सड़कों पर मार्च किया। किसानों का मार्च गांधी मैदान से निकलकर राजभवन की ओर से बढ़ने लगा। मार्च जब डाक बंगला चौराहे पर पहुंचा तो पुलिस ने उन्हें राजभवन की ओर जाने से रोक दिया। इस दौरान पुलिस और किसानों के बीच झड़प हो गई। जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया।

यह भी पढ़ें- दिल्ली की सीमाओं पर डटे अन्नदाता, राहुल बोले- किसान पर मित्रों वाले कानून का वार यही है मोदी सरकार

पुलिस ने आंदोलनकारियों को दौड़ाकर पीटा
डाक बंगला चौराहे पर जब किसानों को रोका गया तो उनके और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की शुरू हो गई। अनियंत्रित भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। इसके बाद भगदड़ मच गई। पुलिस ने भाग रहे किसानों को दौड़ाकर पीटा। कई किसानों ने गलियों में छिपकर अपनी जान बचाई। घायल किसानों को पीएमसीएच भेजा गया है।

हंगामे के कारण आसपाल के इलाकों में लगा जाम
किसान कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे थे। डाक बंगला चौराहे पर काफी देर तक हंगामा होने के बाद आसपास के इलाकों में जाम लग गया। जाम के कारण गांधी मैदान से लोगों का आगे बढ़ना मुश्किल हो गया।

दिल्ली की सीमाओं पर एक महीने से ज्यादा समय से किसान कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं। सभी विपक्षी पार्टियों ने इसे अपना समर्थन दिया है। इसी बीच मंगलवार को बिहार की राजधानी पटना में कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया।

जानकारी के अनुसार, पुलिस ने पटना में अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति और लेफ्ट पार्टियों की ओर से राजभवन तक निकाले जा रहे मार्च को रोक दिया। इसके बाद पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हो गई। फिर पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया।

गांधी मैदान से निकला जुलूस
कृषि कानूनों के विरोध में राज्य के विभिन्न कोने से आए किसानों ने पटना की सड़कों पर मार्च किया। किसानों का मार्च गांधी मैदान से निकलकर राजभवन की ओर से बढ़ने लगा। मार्च जब डाक बंगला चौराहे पर पहुंचा तो पुलिस ने उन्हें राजभवन की ओर जाने से रोक दिया। इस दौरान पुलिस और किसानों के बीच झड़प हो गई। जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया।

यह भी पढ़ें- दिल्ली की सीमाओं पर डटे अन्नदाता, राहुल बोले- किसान पर मित्रों वाले कानून का वार यही है मोदी सरकार

पुलिस ने आंदोलनकारियों को दौड़ाकर पीटा
डाक बंगला चौराहे पर जब किसानों को रोका गया तो उनके और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की शुरू हो गई। अनियंत्रित भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। इसके बाद भगदड़ मच गई। पुलिस ने भाग रहे किसानों को दौड़ाकर पीटा। कई किसानों ने गलियों में छिपकर अपनी जान बचाई। घायल किसानों को पीएमसीएच भेजा गया है।

हंगामे के कारण आसपाल के इलाकों में लगा जाम
किसान कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे थे। डाक बंगला चौराहे पर काफी देर तक हंगामा होने के बाद आसपास के इलाकों में जाम लग गया। जाम के कारण गांधी मैदान से लोगों का आगे बढ़ना मुश्किल हो गया।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *